Logo text

होम » प्राध्यापक एवं अनुसंधान » क्षेत्र (एरिया) और समूह » विपणन


विपणन

 


इस क्षेत्र की गतिविधियाँ विपणन में सार्वजनिक, निजी और सामाजिक क्षेत्र के संगठनों के लिए शिक्षण, अनुसंधान, और परामर्श कार्य करने से संबंधित हैं। यह विपणन क्षेत्र विपणन के बुनियादी रूप के साथ साथ विशेष विषयों का सम्मिलित पाठ्यक्रम प्रदान करता है।



नया वर्तमान में उद्घाटित


पाठ्यक्रम


पी जी पी

यह क्षेत्र विपणन में स्नातकोत्तर कार्यक्रम के पहले वर्ष में दो अनिवार्य पाठ्यक्रम प्रदान करता है। यह क्षेत्र द्वितीय वर्ष में,ऐसे वैकल्पिक पाठ्यक्रम प्रदान करता है: विज्ञापन और बिक्री संवर्धन प्रबंधन, उपभोक्ता आधारित व्यापार रणनीतियाँ,अनुसंधान क्रियाविधि विज्ञान और विपणन निर्णय के लिए डेटा विश्लेषण, ब्रांड प्रबंधन,बिक्री और वितरण प्रबंधन पर संगोष्ठी, खुदरा प्रबंधन पर संगोष्ठी और सामरिक विपणनआदि। यह क्षेत्र अन्य क्षेत्रों के साथ साथ दो पाठ्यक्रम भी प्रदान करता है: रसद प्रबंधन (पीएंड क्यूएम क्षेत्र के साथ) व इंटरनेट विपणन और इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स (सीआईएसजी क्षेत्रके साथ)। इसके अलावा, यह क्षेत्र स्नातकोत्तर प्रतिभागियों को एएसपीएम पाठ्यक्रमऔर पांच स्वतंत्र परियोजना पाठ्यक्रम के हिस्से के रूप में विज्ञापन प्रबंधन पर एक कार्यशाला प्रदान करता है। जो संकाय चयनित छात्रों को स्वीकार करते हैं उनके लिए ये वैकल्पिक पाठ्यक्रम और अधिक उत्पादक बन गया है और इसलिए सीखने के उच्च स्तरको प्राप्त करने के प्रयास अधिक निकट ला देता है। इन पाठ्यक्रमों के अधिकांश क्षेत्र में अनुभवों का ब्योरा है, जो प्रतिभागियों को वास्तविक जीवन के अनुभव देता है।


एफ पी एम

यह
क्षेत्र द्वितीय वर्ष के एफ पी एम प्रतिभागियों को चार पाठ्यक्रम उपलब्ध कराता है: विपणन में मात्रात्मक मॉडल पर सेमिनार, विपणन में व्यवहार विज्ञान अनुप्रयोग, विपणन सिद्धांत समकालीन मुद्दे और विपणन प्रबंधन में पठन संगोष्ठी। एफ पी एम छात्रों द्वारा शोध निबंध में से कुछ इस तरह से हैं:

1.

पूर्व खरीद सूचना खोज में पिछले उत्पाद ज्ञान की भूमिकाः एक प्रेरणा सिद्धांत दृष्टिकोण

2.

कारकों की एक सैद्धांतिक जाँच जो पदोन्नति के लिए उपभोक्ता प्रतिक्रिया को प्रभावित करती है।

3.

कथित जोखिम और गुम सूचना परिभाषा के बारे में उपभोक्ता निष्कर्ष पर प्रसंग का प्रभाव।

4.

टेलीविजन विज्ञापन और उपभोक्ता मूल्य।

5.

अस्पतालों के लिए गुणवत्ता सेवा का एक मापन: स्केल विकास और मान्यकरण

6.

वितरण रणनीति और प्रदर्शन: ऑटोमोबाइल उद्योग पर एक क्रॉस राष्ट्रीय तुलना

7.

उपभोक्ता मूल्यांकन और ब्रांड विस्तरण: भागीदारी की प्रक्रिया और संयत भूमिका


एमडीपी
कार्यक्रम


इस वर्ष विपणन क्षेत्र में दो नए एमडीपी की पेशकश की गई है: वैश्विक विपणन रणनीति और रीटेलिंग प्रबंध। यह क्षेत्र विपणन निर्णय और उत्पाद नीति और आईआईएम-ए में नये उत्पाद प्रबंधन के लिए उन्नत डेटा विश्लेषण पर एमडीपी की पेशकश जारी रखता है। क्षेत्र संकाय इस संस्थान द्वारा प्रस्तुत विभिन्न प्रबंधन विकास कार्यक्रमों में भाग लेते हैं। वे विपणन में विभिन्न विषयों पर कई कार्यक्रमों में कुछ की पेशकश करते हैं।

                                          

अनुसंधान
       
संकाय के पास अपने क्रेडिट करने के लिए अनुसंधान कार्य की एक विस्तृत श्रृंखला है। यह व्यावसायिक और गैर - व्यावसायिक उद्यमों और अंतरराष्ट्रीय विपणन में विपणनरण नीति से संबंधित होता है। इस क्षेत्र में भारतीय खुदरा बिक्री उद्योग एक उभरता अनुसंधान क्षेत्र है। कुटीर और हथकरघा उद्योगों और छोटे पैमाने पर समग्र प्रबंधन परिप्रेक्ष्य में विपणन की समस्याओं के प्रबंधन के लिए पर्याप्त ध्यान दिया जा रहा हैं।

क्षेत्र के सदस्य राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं / पुस्तकों में काफी संख्या में लेख प्रकाशित करते हैं तथा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में शोध पत्र प्रस्तुत करते हैं।इस क्षेत्र में कई शिक्षाविदों और प्रमुख व्यावसाइयों को इस क्षेत्र द्वारा प्रस्तुत विभिन्न पाठ्यक्रमों और कार्यक्रमों में प्रतिभागियों के साथ उनके अनुभवों पर चर्चा करने व सेमिनार करने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

यह क्षेत्र  भारतीय संदर्भ में उत्पाद बाजार स्थिति और संगठनों की एक विस्तृत श्रंखला को शामिल करते हुए मामला अनुसंधान के काम को अंजाम देते हैं इसमें विज्ञापन प्रबंधन, मीडिया और अभियान की योजना, उपभोक्ता व्यवहार, उत्पाद प्रबंधन, बिक्री और वितरण प्रबंधन, सार्वजनिक वितरण और नीति, अंतर्राष्ट्रीय विपणन, औद्योगिक खरीदार व्यवहार, जीवन शैली विभाजन और खुदरा बिक्री जैसे विषयों को शामिल किया जाता है। 

परामर्शन

       इस क्षेत्र के सदस्य बड़े और मध्यम आकार की कंपनियों और अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों को परामर्श मदद प्रदान करते हैं। परियोजनाओं की प्रकृति में समीक्षा और विपणन रणनीति और प्रणालियाँ, रणनीतिक विपणन योजनाएँ और नए उत्पाद परिचय रणनीति विकसित करना आदि शामिल है।

एरिया सदस्य

प्राथमिक सदस्य

प्रोफेसर के जैनTurn on JavaScript!

प्रो. ए के जायसवाल Turn on JavaScript!

 प्रो. अब्राहम कोशी Turn on JavaScript!
प्रो. अरिन्दम बेनर्जी  Turn on JavaScript!
प्रो. अरविंद सहाय Turn on JavaScript!
प्रो. बिबेक बेनर्जी Turn on JavaScript!">Turn on JavaScript!
प्रो. पी के सिंहा Turn on JavaScript!
प्रो. प्रताप ओबुराइ Turn on JavaScript!


गौण सदस्य

प्रो. संजय वर्मा Turn on JavaScript!
प्रो. वसंत गाँधी Turn on JavaScript!">Turn on JavaScript!

प्रो. जी रघुराम  Turn on JavaScript!